Ads

1 / 3
Caption Text
2 / 3
Caption Two
3 / 3
Caption Three
3 / 3
Caption Three

Ballia : लखनऊ में अखिलेश ने ली बैठक, सलेमपुर से चार दावेदारों की हुई चर्चा


आठ को आयेगी सपा की सूची, सलेमपुर लोकसभा सीट पर 20 मिनट तक चला मंथन
रोशन जायसवाल
बलिया।
आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर राजनैतिक सरगर्मी और तेज होने लगी है। होली के बाद अब राजनैतिक दलों में प्रत्याशियों को मैदान में उतारने की पूरी तैयारी समजावादी पार्टी ने कर ली है। लखनऊ के एक सूत्र के हवाले से बड़ी खबर यह आ रही है कि सलेमपुर लोकसभा सीट पर प्रत्याशी उतारने को लेकर 20 मिनट तक समाजवादी पार्टी कार्यालय में मंथन हुआ और सम्भावना है कि आठ अप्रैल को प्रत्याशी का ऐलान भी हो सकता है। बताते चले कि करीब 20 मिनट तक पार्टी कार्यालय में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र से जुड़े सपा के प्रमुख नेताओं की जिसमें जिलाध्यक्ष संग्राम यादव, महासचिव बीरबल राम, विधानसभा अध्यक्ष उदय बहादुर, पूर्व विधायक रामइकबाल सिंह, विधायक जयप्रकाश अंचल, डा0 एसएस इस्लाम, अरविन्द गिरि मौजूद रहे। बैठक में रोचक यह रहा कि अखिलेश यादव के सामने कुछ नेताओं ने प्रमुखता से दो नेताओं का नाम लिया जिसमंें ओपी यादव और पूर्व सांसद रमाशंकर विद्यार्थी राजभर के नाम की चर्चा होने लगी। इसी बीच सपा के महासचिव बीरबल राम बैठक में खड़े हुए और उन्होंने कहा कि अध्यक्ष जी यह दो नाम के अलावा दो और नाम है एक नाम पूर्व विधायक रामइकबाल सिंह दूसरा नाम अवलेश कुमार सिंह है। इस पर अखिलेश यादव ने बीरबल राम के बातों को गम्भीरता से लिया। ऐसे में यह सवाल उठने लगा कि क्या इन चारों नामों पर किसी एक नाम पर अखिलेश यादव की मुहर लगेगी या फिर कोई और नाम अखिलेश यादव के नजर में है। वैसे एक नाम और भी है जो बांसडीह विधानसभा क्षेत्र से कई बाद विधायक भी रहे और मंत्री भी। उनके भी नाम की चर्चा होने लगी है, लेकिन अभी तक समाजवादी पार्टी अपने निर्णय तक नहीं पहुंच पायी है। वैसे पर्दे के पीछे कई ऐसे दावेदार है जो लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार बैठे है, लेकिन वह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का आशीर्वाद चाहते है। यदि उनकी कृपा दृष्टि बन गयी तो वह मैदान में कूदेंगें, लेकिन जातीय समीकरण में कौन दावेदार फीट बैठेगा इसको लेकर समाजवादी पार्टी विचार-विमर्श कर रही है। सलेमपुर लोकसभा में भाजपा प्रत्याशी के सामने सपा का उम्मीदवार कितना मजबूत होगा यह सपा की सूची आने के बाद ही पता चल सकेगा। वैसे यहां से ब्राह्मण चेहरे में दो प्रमुख उम्मीदवार भी है। इसके अलावा दो यादव वर्ग से, दो क्षत्रीय वर्ग से एक राजभर विरादरी से जुड़े लोग भी टिकट के दौड़ में है। कौन दावेदार साईकिल लेकर सलेमपुर लोकसभा में पहुंचेगा इसको लेकर राजनैतिकों की मानें तो उनका कहना यह है कि जातीय समीकरण को देखते हुए उम्मीदवार मैदान में होगा।

अखिलेश के मीटिंग में पहुंचे अवलेश
लखनऊ के समाजवादी पार्टी कार्यालय में जदूय के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अवलेश सिंह अचानक पहुंच गये, ऐसे में यह कयास लगाये जा रहे है कि अवलेश कुमार सिंह जदूय छोड़ सपा में शामिल हो सकते है। हालांकि अवलेश कुमार सिंह ने कहा कि मुझे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलना था इसलिए पार्टी कार्यालय आया था। वैसे सपा के मीटिंग में अखिलेश यादव ने मुस्कराते हुए अवलेश सिंह का नाम भी लिया। अब देखना यह होगा कि अखिलेश यादव के साथ अवलेश कुमार सिंह रहेंगे या फिर जदयू की राजनीति में बने रहेंगें। इस सवाल पर अवलेश सिंह से हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि मेरी दावेदारी सलेमपुर लोकसभा सीट से है और मैंने सपा से टिकट भी मांगा है।

Jamuna college
Gyan kunj
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *