Ads

1 / 3
Caption Text
2 / 3
Caption Two
3 / 3
Caption Three
3 / 3
Caption Three

Ballia : सपा ठाकुर या ब्राह्मण चेहरे पर लगाएगी दांव


लोकसभा चुनाव-2024
अंदरखाने में चल रहा पूर्व सांसद समेत अन्य के नाम का चर्चा
रोशन जायसवाल
बलिया।
सलेमपुर लोकसभा सीट पर इंडिया गठबंधन के तहत सपा का चेहरा कौन होगा? इसको लेकर सपा कार्यालय लखनऊ में राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लगभग 20 मिनट तक क्षेत्र के वरिष्ठ नेताओं से फीड बैक लिया है। इसमें चार नाम खुलकर सामने आये। पहले क्रम में दो नाम पूर्व सांसद रमाशंकर विद्यार्थी एवं ओपी यादव का आया। दूसरे क्रम में दो नाम पूर्व विधायक रामइकबाल सिंह एवं अवलेश कुमार सिंह का भी नाम आया। इन चारों नामों पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने विचार-विमर्श किया। वहीं, एक नाम ऐसा भी है, जिसकी चर्चा बैठक में नहीं हुई। वह एक ब्राह्मण चेहरा है।

भाजपा ने मौजूदा सांसद रवीन्द्र कुशवाहा को तीसरी बार मैदान में उतारा है। उसको लेकर सपा के अंदरखाने में तैयारी यह चल रही है कि भाजपा प्रत्याशी रवीन्द्र कुशवाहा को कौन मात दे सकता है? इसके लिहाज से सपा जातीय समीकरण को लेकर चल रही है। सलेमपुर के राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो भाजपा के ओबीसी चेहरा के सामने कोई ठाकुर अथवा ब्राह्मण चेहरा ही टक्कर दे सकता है। कारण कि इस क्षेत्र से कई बार ब्राह्मण समाज से लोग संसद में पहुंचते रहे है।

कांग्रेस लगातार कई चुनावों में ब्राह्मण चेहरा के रूप में डॉ. भोला पांडेय एवं पूर्व सांसद राजेश मिश्र को मैदान में उतार चुकी है। उस समय कांग्रेस के सामने सपा का भी प्रत्याशी होता था। इस बार के चुनाव में इंडिया गठबंधन में सपा शामिल है। इसलिए सपा का पलडा भारी माना जा रहा है। वैसे भी सपा का बेस वोट यादव-मुसलमान के अलावा अन्य जातियों का वोट कोई ठाकुर अथवा ब्राह्मण प्रत्याशी ही जोड़ सकता है। वहीं, पूर्व सांसद रमाशंकर विद्यार्थी भ ले ही टिकट के मजबूती से दावेदारी कर रहे हो, लेकिन सपा को राजभर वोट करेगा या नहीं? यह सबसे बड़ा सवाल है। क्योकि पूर्वांचल के कुछ लोकसभा क्षेत्रों में सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मंत्री ओमप्रकाश राजभर का विशेष प्रभाव भी माना जा रहा है।

इसमें लोकसभा सलेमपुर भी शामिल है। ऐसे में सपा को राजभर समाज का वोट मिलना काफी मुश्किल भी सकता है, शायद इसलिए सपा किसी ठाकुर अथवा ब्राह्मण चेहरे पर दांव लगा सकती है जैसा की चर्चा है इसके पीछे के तर्क को माने तो सलेमपुर लोकसभा में राजधारी सिंह एवं रविशंकर सिंह पप्पू चुनाव लड़ चुके है, लेकिन परिणाम उनके पक्ष में नहीं रहा। हालांकि, इन प्रत्याशियों को उनके समाज का वोट भरपूर मिला। वहीं, कांग्रेस के प्रत्याशी रहे डॉ. भोला पांडेय को भी ब्राह्मणों का अच्छा-खासा वोट मिला है। इन्हीं मसले को लेकर सपा सलेमपुर से ठाकुर अथवा ब्राह्मण चेहरे को चुनाव लड़ा सकती है। इधर, सपा के अंदरखाने में एक चर्चा और है कि यदि बलिया लोकसभा सीट पर भाजपा ने भूमिहार चेहरा दिया तो सपा किसी ठाकुर को मैदान में उतारेगी तथा सलेमपुर में किसी ब्राह्मण को चुनाव लड़ने का मौका दे सकती है दूसरी चर्चा यह है कि यदि बलिया में भाजपा किसी ठाकुर चेहरे को मैदान में उतारेगी तो सपा किसी ब्राह्मण अथवा मजबूत यादव पर दांव लगायेगी।

ऐसे में सलेमपुर से किसी ठाकुर चेहरा को मौका मिलने की संभावना बन सकती है। इन चर्चाओं पर तभी विराम लगेगा, जब सपा अपने प्रत्याशियों की घोषणा करेगी। अपना नाम न छापने की शर्त पर एक सपा नेता ने बताया कि बलिया लोकसभा सीट पर तीन जातियों के प्रमुख नेताओं को महत्व मिलना है। इसमें ठाकुर, ब्राह्मण या यादव चेहरा हो सकता है। वहीं, एक सूत्र ने यह भी बताया कि सपा के पास यादव चेहरा में पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी, रामगोविन्द चौधरी, ठाकुर चेहरे में पूर्व विधायक रामइकबाल सिंह, अवलेश सिंह, ब्राह्मण चेहरा में सनातन पांडेय के अलावा दो अन्य नाम है, जो पर्दे के पीछे है। वक्त का इंतजार करिए। आठ अप्रैल को सपा अपने प्रत्याशियों की घोषणा करेगी।

Jamuna college
Gyan kunj
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *