Ads

1 / 3
Caption Text
2 / 3
Caption Two
3 / 3
Caption Three
3 / 3
Caption Three

Ballia : घोसी से कोई जीते, सांसद तो बलिया का ही होगा

रसड़ा के अरविन्द राजभर तो फेफना विधानसभा के है राजीव राय
बलिया से रोशन जायसवाल की एक रिपोर्ट,
बलिया।
पूर्वांचल की सबसे महत्वपूर्ण घोसी लोकसभा सीट पर लगातार कई बार कांग्रेस से कल्पनाथ राय का कब्जा रहा है। उनके निधन के बाद कभी भाजपा तो कभी सपा तो कभी बसपा के उम्मीदवार चुनाव जीतकर दिल्ली के सदन में पहुंचते रहे है। जबकि अपने समय में यह सीट लगातार कांग्रेस की झोली में रहा है। 1996 के चुनाव में यहां से सबसे अधिक 35 प्रत्याशी मैदान में थे। 1998 में हुए चुनाव में मात्र 11 प्रत्याशी चुनाव समर में रहे।

हालांकि दोनों ही चुनाव में कल्पनाथ राय के हाथ बाजी लगी। 1991 से लेकर 2019 तक यहां हुए कुल 8 लोकसभा चुनाव में कुल 156 प्रत्याशियों ने चुनाव मैदान में ताल ठोकी थी। इस बार भी लोकसभा चुनाव में एनडीए व इंडिया गठबंधन ने महिला उम्मीदवार मैदान में नहीं उतारा है। जहां सुभासपा ने अरविन्द राजभर को, वहीं सपा ने राजीव राय को चुनाव मैदान में उतारा है। अब देखना यह होगा कि इस बार जीत का सेहरा किसके सिर पर बंधेगा। जो भी जीतेगा सांसद तो बलिया का ही होगा, क्योंकि वर्तमान समय में सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के बेटे अरविन्द राजभर रसड़ा में निवास कर रहे है। विगत कई वर्षाें से वह बलिया जिले के रसड़ा विधानसभा क्षेत्र के निवासी भी हो गये है।

रसड़ा विधानसभा क्षेत्र घोसी लोकसभा क्षेत्र का एक हिस्सा है। ऐसे में बात करें तो अरविन्द राजभर बलिया जिले के निवासी हो गये है। वहीं सपा के प्रत्याशी राजीव राय जो घोसी से दूसरी बार चुनाव लड़ रहे है। वह बलिया जिले के नरही थाना क्षेत्र सुरही के रहने वाले है, जो फेफना विधानसभा क्षेत्र में पड़ता है। कहने का मतलब यह है कि इस बार घोसी लोकसभा सीट से जो भी जीतेगा वह बलिया का ही सांसद होगा। घोसी लोकसभा सीट के इतिहास पर अगर नजर डाले तो यहां भूमिहार बिरादरी को मतदाताओं ने कई बार मौका दिया है। अब यहां के मतदाता किसको मौका देंगें और किसको दिल्ली के सदन में भेजेंगे यह आने वाला 4 जून तय करेगा। वैसे इस सीट से सुभासपा प्रत्याशी अरविन्द राजभर पहली बार मैदान में है।

जबकि सपा प्रत्याशी राजीव राय दूसरी बार मैदान में है। जहां एक तरफ सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर अपने बेटे अरविन्द राजभर के लिए पूरी ताकत झोकेंगे। वहीं ंसमाजवादी पार्टी के नेता भी पूरी दमदारी से सपा प्रत्याशी को विजय की तरफ ले जाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगें। वैसे मौजूदा समय में नजर दौड़ाये तो घोसी लोकसभा क्षेत्र में कुल पांच विधानसभा क्षेत्र शामिल है। जिसमें मऊ विधानसभा क्षेत्र से सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी वर्तमान समय में उनके चाचा सांसद अफजाल अंसारी गाजीपुर से सपा प्रत्याशी घोषित है तो ऐसे में माना जा सकता है कि अब्बास अंसारी सपा के साथ हो सकते है।

इसके अलावा घोसी लोकसभा सीट से सपा से सुधाकर सिंह विधायक है। मोहम्मदाबाद गोहना से सपा विधायक पूर्व मंत्री राजेन्द्र कुमार है। मधुबन से भारतीय जनता पार्टी के विधायक रामविलास चौहान है। वहीं रसड़ा विधानसभा क्षेत्र से बसपा से उमाशंकर सिंह विधायक है। यदि राजनैतिक दलों पर नजर डाले तो सपा के दो विधायक, एक सुभासपा के विधायक एक भाजपा के विधायक तो एक बसपा के विधायक प्रतिनिधित्व कर रहे है। आगामी लोकसभा चुनाव बड़ा ही रोचक दिख रहा है, क्योंकि घोसी लोकसभा सीट से संुभासपा और सपा से लड़ रहे प्रत्याशी दोनों बलिया जिले से ही ताल्लुक रखते है। सुभासपा के प्रत्याशी रसड़ा विेधानसभा तो सपा के प्रत्याशी फेफना विधानसभा क्षेत्र के निवासी है। अब यह तय है कि दोनों में से कोई एक जीतेगा तो बलिया का ही नाम रोशन होगा।

आगे देखें…
तीसरी बार भविष्य आजमायेंगे अरविन्द राजभर
अरविन्द राजभर दो बार विधानसभा चुनाव लड़ने के बाद तीसरी बार लोकसभा चुनाव में कूद चुके है। अब देखना यह होगा कि अरविन्द राजभर घोसी से दिल्ली पहुंचते है या नहीं, लेकिन सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर का दावा है कि इस बार घोसी की सीट सुभासपा के झोली में होगा। बताते चलें कि 2017 के विधानसभा चुनाव में अरविन्द राजभर पहली बार बलिया जिले के बांसडीह विधानसभा क्षेत्र से सुभासपा से चुनाव लड़े थे जहां वह तीसरे स्थान पर रहे। 2022 के विधानसभा चुनाव में अरविन्द राजभर वाराणसी के शिवपुर विधानसभा से चुनाव लड़े जहां वो दूसरे स्थान पर रहे। अब पहले स्थान पर बने रहने के लिए घोसी लोकसभा सीट से दमदारी से ताल ठोक रहे है अरविन्द राजभर। चुनाव रणक्षेत्र में अरविन्द राजभर कितना कामयाब होंगे यह वक्त की बात होगी, लेकिन यह भी माना जा सकता है कि अरविन्द राजभर के लिए सुभासपा और भाजपा पूरी ताकत झोंकेगी।

आगे देखें…
2014 में पहली बार भाजपा को मिली थी कामयाबी
2014 मोदी लहर में पहली बार घोसी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी हरिनारायण राजभर ने जीत दर्ज करायी थी, जिन्हें कुल मत 379797 वोट मिला था। वहीं दूसरे नम्बर पर बसपा के दारा सिंह चौहान को 233782 मत मिले थे। कौमी एकता दल के मुख्तार अंसारी को 166443 मत मिले थे। सपा के राजीव राय को 165887 मत मिले थे। ऐसे में भाजपा की जीत हुई।

आगे देखें…
एक नजर घोसी के सांसदों पर
1971 झारखण्डे
1977 शिवराम
1980 झारखण्डे
1984 राजकुमार
1989 कल्पनाथ राय
1991 कल्पनाथ राय
1996 कल्पनाथ राय
1998 कल्पनाथ राय
1999 बालकृष्ण
2004 चन्द्रदेव प्रसाद राजभर
2009 दारा सिंह चौहान
2014 हरिनारायण राजभर
2019 अतुल कुमार राय

Jamuna college
Gyan kunj
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *