Ads

1 / 3
Caption Text
2 / 3
Caption Two
3 / 3
Caption Three
3 / 3
Caption Three

Ballia : राम व नारद को भाजपा में शामिल कराने में ओपी राजभर की भूमिका

रोशन जायसवाल,
बलिया।
आखिरकार सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर अपने मकसद में कामयाब हो ही गये। घोसी लोकसभा सीट पर चुने गये 17 सांसदों में 10 सांसद भूमिहार समाज से ही चुने गये है और तीन सांसद क्षत्रिय समाज से, बाकी दो राजभर और दो चौहान समाज से ही चुनकर संसद पहुंचे है। वैसे रामइकबाल सिंह 2009 में भाजपा से लोकसभा का चुनाव घोसी से लड़ चुके है और रसड़ा से विधानसभा का चुनाव 2012 में भी लड़ चुके है। क्षेत्र में रामइकबाल सिंह की पकड़ अच्छी बतायी जा रही है। क्षत्रिय समाज का वोट अपने पाले में लेने के लिये ओमप्रकाश राजभर ने पुनः रामइकबाल सिंह की घर वापसी करायी है।

वहीं भूमिहार समाज का मत अपने बेटे प्रत्याशी अरविंद राजभर के पाले में लेने के लिये नारद राय को भी अमित शाह से भेंट कराने में अहम भूमिका निभायी है। बहरहाल इसमें कितनी सत्यता है यह बताना काफी मुश्किल है लेकिन राजनीतिक गलियारे में इसकी काफी चर्चा है। अब देखना यह होगा कि घोसी व बलिया लोकसभा सीटों पर नारद राय का जादू चलता है या नहीं। हालांकि रामइकबाल सिंह रसड़ा विधानसभा क्षेत्र में सुभासपा प्रत्याशी अरविंद राजभर को अच्छी लड़ाई में ला सकते है। क्योंकि वह राजनीति के पक्के खिलाड़ी माने जाते है। वहीं भूमिहारों के नेता नारद राय अरविंद राजभर के लिये कितना सफल साबित होंगे ये आने वाला चुनाव तय करेगा। क्योंकि सपा से भूमिहार चेहरे के रूप में राजीव राय चुनाव मैदान में है। अब देखना यह भी होगा कि भूमिहार समाज अपने समाज की लहर में जाता है या फिर मोदी लहर में जाता है।

राम के साथ नारद जाएंगे भाजपा में
बलिया। राजनीति में कब क्या हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता। इसका संकेत जनसंदेश टाइम्स अखबार में 20 मई के अंक में गृहमंत्री के मंच पर जय श्रीराम बोलेंगे नेता शीर्षक से छपी खबर सही साबित हुई क्योंकि नेताजी भाजपा में शामिल होने से पहले ही खोरीपाकड़ में आयोजित सभा में जय श्रीराम के उद्घोष लगाये। अब पूर्व मंत्री नारद राय व पूर्व विधायक रामइकबाल सिंह 29 मई को हैबतपुर में गृहमंत्री के चुनावी जनसभा में भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे। बात करें तो राम के साथ नारद भी अब भाजपा की राजनीति में सक्रिय रहेंगे। भाजपा में शामिल होने के पूर्व 27 मई की देर शाम नारद राय व रामइकबाल सिंह वाराणसी में पहुंचे और वहां उनकी मुलाकात गृहमंत्री अमित शाह से हुई है।

Jamuna college
Gyan kunj
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *