एसपी दफ्तर में पीड़ित ताहिर ने खुद को लगायी आग, पूर्व सीएम ने कहीं यह बात

शाहजहांपुर। पुलिस अधीक्षक के दफ्तर में उस समय अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया जब कांट थाना क्षेत्र के गांव सिहरान निवासी ताहिर अली ने खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। मौके पर मौजूद सिपाहियों ने कंबल डाल कर किसी तरह आग पर काबू पाया लेकिन तब तक ताहिर अली गंभीर रूप से झुलस गया। उसे राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। सूत्रों के अनुसार ताहिर अली ने गाड़ी गायब होने के मामले में पुलिस पर सुनवाई न करने का आरोप लगाया था।

जानकारी के अनुसारएक युवक ने ताहिर अली की दो पिकअप गाड़ियां किराये पर ली थीं। कुछ समय बाद उसने किराया देने से मना कर दिया था। मामला पुलिस तक गया तो पुलिस ने गाड़ी को चौकी में खड़ा करवा दिया था। अब उसकी गाड़ी पुलिस चौकी से गायब हो गई। ताहिर अली अपनी गाड़ी का पता लगाने के लिए चक्कर काट रहे थे। आरोप है कि पुलिस उनकी सुनवाई नहीं कर रही थी। इससे आहत होकर उसने आत्मघाती कदम उठा लिया। इस संबंध में एसपी अशोक कुमार मीणा ने बताया कि तीन लोगों के उकसाने पर ताहिर अली ने खुद को आग लगाई है। पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है। इसके पीछे क्या कारण रहे हैं, इसकी जांच कराई जा रही है।

अखिलेश ने एक्स पर किया पोस्ट
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना को लेकर एक्स पर लिखा है कि शाहजहांपुर पिकअप चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज न करने से आहत जिस युवक ने एसपी ऑफिस के सामने पहुंच कर आग लगाई है, उसको तत्काल सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सुविधा दी जाए। इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुक़दमा दर्ज कर कार्रवाई की जाए।

इसे भी पढ़े -   Ballia : ए आर फारुकी ने एसडीएम का ग्रहण किया कार्यभार

Leave a Comment