Ads

1 / 3
Caption Text
2 / 3
Caption Two
3 / 3
Caption Three
3 / 3
Caption Three

Ballia : पंकज शेखर का सपना नहीं हुआ पूरा, 10 वर्ष पहले सलेमपुर लोकसभा में ठोकी थी ताल

लोकसभा सलेमपुर : पंकज शेखर के बाद योगेश्वर को भी नहीं मिला लड़ने का मौका
16 बार देवरिया और एक बार बलिया को मिला मौका
बलिया।
लोकसभा सलेमपुर में देवरिया जिले के नेताओं को ही ज्यादातर राजनीतिक दलों ने तवज्जों दी हैं और देवरिया जिले से ही कुछ 17 सांसदों में 16 सांसद देवरिया जिले के ही रहे है। 1971 में तारकेश्वर पांडेय कांग्रेस से सांसद बने जो बलिया जिले के द्वाबा विधानसभा क्षेत्र के फकरूराय टोला के निवासी थी। 1971 के बाद 2019 तक भाजपा व सपा ने बलिया जिले के दावेदारों पर भरोसा नहीं जताया जबकि सलेमपुर लोकसभा में बलिया जिले के तीन विधानसभा क्षेत्र शामिल है।

हालांकि बलिया जिले के कांग्रेस से भोला पांडेय और बसपा और जदयू से रविशंकर सिंह पप्पू, राजधारी सिंह, ओमप्रकाश राजभर लड़े लेकिन चुनाव नहीं जीते। वहीं भाजपा से 2014 में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी के बड़े पुत्र पंकज शेखर सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिये क्षेत्रवासियों से संपर्क भी साधा था और होडिंग पोस्टर के माध्यम से क्षेत्रीय मतदाताओं को बधाई भी दी थी। लेकिन भाजपा ने पंकज शेखर को टिकट न देकर जातीय समीकरण को देखते हुए रविंद्र कुशवाहा को मैदान में उतारा। उसके बाद 2024 के लोकसभा चुनाव में बांसडीह विधानसभा क्षेत्र के कुसौरा निवासी योगेश्वर सिंह ने भले ही भाजपा का झंडा और बैनर न लगाये हो लेकिन अंदरखानों में यह चर्चा जरूर रहा कि योगेश्वर सिंह भाजपा से ही टिकट मांग रहे है।

लेकिन उनहें भी टिकट नहीं मिला। इस बार भी भाजपा ने मौजूदा सांसद रविंद्र कुशवाहा को मैदान में उतारा है। सहतवार बाजार में योगेश्वर सिंह के नाम की चर्चा यह होती रही कि बलिया जिले से एक दावेदार योगेश्वर सिंह भी थे लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला। वहीं बिल्थरारोड विधानसभा क्षेत्र के एक चाय की दुकान पर एक चर्चा यह उठी कि पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के पुत्र पंकज शेखर भी भाजपा से लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला।

जबकि 2014 में पंकज शेखर के छोटे भाई नीरज शेखर बलिया लोकसभा सीट से सपा से चुनाव लड़ रहे थे। पंकज शेखर बलिया जिले के राजनीति में भले ही सक्रिय न हो पाये लेकिन उनके छोटे भाई नीरज शेखर बलिया के राजनीति में सक्रिय हो गये और दो बार सपा से सांसद, एक बार राज्यसभा सांसद और वर्तमान में भाजपा से राज्यसभा सांसद है। चर्चा यह भी है कि नीरज शेखर बलिया लोकसभा सीट से एक मजबूत दावेदार के रूप में देखे जा रहे है।
बलिया से रोशन जायसवाल की एक रिपोर्ट,

Jamuna college
Gyan kunj
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar
Jamuna Ram snakottar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *