Ballia : आपदा से कैसे करें बचाव, छात्र-छात्राओं को दिया गया प्रशिक्षण

बेरुआरबारी (बलिया)। आपदा प्रबंधन का अर्थ है कि ऐसे सभी उपाय किए जाने चाहिए जिससे खतरा आपदा का रूप न ले सके। चूंकि, हम कई प्राकृतिक खतरों को आने से नहीं रोक सकते हैं, लेकिन जीवन और संपत्ति के नुकसान को कम करने के लिए उचित प्रबंधन द्वारा उनके हानिकारक प्रभावों को कम कर सकते हैं। उक्त बाते शिक्षा क्षेत्र बेरुआरबारी के उच्च प्राथमिक विद्यालय सुजौली शिवरामपुर में एक दिवसीय राज्य आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण शिविर को सम्बोधित करते हुए जिला समन्वयक राजेश कुमार गुप्ता ने कहा। प्रशिक्षक विनय चौबे ने विद्यालय के छात्र-छात्राओं से अचानक बिजली गिरने, नाव डूबने, सर्प के काटने, आग लगने आदि पर सुरक्षा के उपाय पर विस्तार से चर्चा कर जानकारी दी। इस मौके पर मुख्य रूप से प्रधानाध्यापक गांधी प्रसाद, अर्चना चतुर्बेदी, सुनीता सिंह, देवदाशी देवी, कुमारी पूजा, धनंजय सिंह, सुनीता पाठक, कुमारी पूनम आदि सभी अध्यापक व छात्र छात्राएं उपस्थित रहे। अंत में सबके प्रति आभार प्रकट प्रेमचंद वर्मा ने व्यक्त किया।

Leave a Comment