Ballia : सहजानंद राय का छात्र राजनीति से क्षेत्रीय अध्यक्ष तक का सफर

बलिया से रोशन जायसवाल,
बलिया।
छात्र राजनीति में भले ही सफलता नहीं मिली लेकिन क्षेत्रीय अध्यक्ष के सफर में सहजानंद राय ने कामयाबी हासिल की। जिसकी चर्चा आज संगठन से जुड़े कुल 12 जनपदों में जबरदस्त तरीके से हो रही है। सहजानंद राय का नाम राजनीतिक सुर्खियों में तब आया जब वह पहली बार 2014 में आजमगढ़ जिले से भाजपा के जिलाध्यक्ष बने। मेहनत और संघर्ष के बदौलत मुकाम हासिल करने वाले सहजानंद राय किसी परिचय के मोहताज नहीं है। आज उनकी चर्चा में राजनीतिक गलियारों में जबरदस्त तरीके से हो रही है। शायद सहजानंद राय का पता नहीं रहा होगा कि 1992 में आजमगढ़ शिब्ली डिग्री कालेज से अध्यक्ष पद के लिये चुनाव लड़े लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। लेकिन उस वक्त छात्र संघ अध्यक्ष बनने का सपना पूरा नहीं हो सका लेकिन आज संगठन की दृष्टि से सहजानंद राय का नाम सबसे आगे रहा। प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी की सोच के अनुरूप सहजानंद राय को इतनी बड़ी कमान सौंपी गयी है। अब देखना यह होगा कि इस जिम्मेदारी को सहजानंद राय किस तरीके से निभाते है। विद्यार्थी राजनीति से अपनी राजनीति की शुरूआत करने वाले सहजानंद राय छात्र संघ से लेकर भाजपा की राजनीति तक की और आज उन्हें इतनी बड़ी सफलता मिली है। आजमगढ़ जिले के ब्लाक तहबरपुर विधानसभा निजामबाद के पूरब पट्टी गांव के रहने वाले सहजानंद राय के पिता प्राइमरी स्कूल के अध्यापक रहे।

इनसेट
कुल 13 लोकसभाओं की जिम्मेदारी भी सहजानंद के उपर
गोरखपुर प्रांत के क्षेत्रीय अध्यक्ष सहजानंद राय के कार्यक्षेत्र में कुल 12 जिलों से जुड़े कुल 13 लोकसभा क्षेत्र शामिल है। अब इन लोकसभा क्षेत्रों में सहजानंद राय को कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। वैसे सहजानंद राय के अध्यक्ष बनने से भाजपा के राजनीतिक गलियारों मेंं हर्ष का माहौल है। क्योंकि पहली बार भूमिहार बिरादरी से क्षेत्रीय अध्यक्ष सहजानंद राय को बनाया गया है। जबकि इसके पहले अन्य बिरादरियों से जुड़े नेताओं को भी यह पद दिया जा चुका है।

इसे भी पढ़े -   Ballia : नहीं जीतेंगें बिहार के मुख्यमंत्री- केशव प्रसाद मौर्य

इनसेट
इन जनपदों की इनके उपर है जिम्मेदारी
गोरखपुर प्रांत से जुड़े कुल 12 जनपद शामिल है। इसमें बस्ती, संत कबीरनगर, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर, गोरखपुर महानगर, कुशीनगर, महाराजगंज, देवरिया, आजमगढ़, लालगंज, मऊ और बलिया शामिल है। इन जिलों से जुड़े लगभग 60 से उपर विधानसभा और कुल 13 लोकसभा शामिल है।

इनसेट
बलिया की तरफ से मिली बधाई
नवागत क्षेत्रीय अध्यक्ष सहजानंद राय को बलिया की तरफ से जबरदस्त तरीके से बधाई मिल रही है। सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त, रविंद्र कुशवाहा, राज्यसभा सांसद नीरज शेखर, सकलदीप राजभर, परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह, विधायक केतकी सिंह, सुनीता श्रीवास्तव, पूर्व मंत्री उपेंद्र तिवारी, आनंद स्वरूप शुक्ल, पूर्व विधायक भगवान पाठक, संजय यादव, धनंजय कन्नौजिया, छट्ठू राम, जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, देवेंद्र यादव, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष विनोद शंकर दुबे, अरूण सिंह बंटू, अजय कुमार समाजसेवी, अभिषेक सोनी, रोशन जायसवाल, राजेश गुप्ता, मिठाई लाल, सोनी तिवारी, पियूष चौबे, संजीव कुमार डंपू, नकुल चौबे, अनुप चौबे, विजय बहादुर सिंह, सुरेंद्र सिंह, संजय मिश्रा, अमरजीत सिंह आदि ने बधाई दी है।

Leave a Comment