Ballia : क्रांति मैदान में बलिया जश्ने आजादी पर जमकर हुई आतिशबाजी

परिवहन मंत्री ने बांटी मिठाइयां मनाई खुशियां
रोशन जायसवाल,

बलिया। बलिया की वह जगह जहां 19 अगस्त 1942 को आजादी की घोषणा हुई थी। उस क्षण में क्रांतिकारियों का नेतृत्व करने वाले शेरे बलिया चित्तू पांडेय को जिले का कलेक्टर घोषित किया गया। वहीं पं. महानंद मिश्र को जिले की कप्तानी सौंपी गयी। जरा याद करो बलिया क्रांति का वह दिन जब 19 अगस्त को जेल का फाटक खुला और क्रांतिकारी बाहर निकले। क्रांति मैदान में हुई सभा में बलिया की आजादी की घोषणा की गयी और 14 दिनों तक बलिया में अंग्रेजों का नहीं बल्कि कांतिकारियों का शासन चलता रहा और गुलाम भारत में बलिया आजाद रहा। पुरानी यादों को ताजा करते हुए परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह शनिवार की शाम को आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। करीब दो घंटे तक आतिशबाजी होती रही और मिठाइयां बंटती रही। इस दौरान कांति मैदान लोगों से भरा रहा। जैसे लग रहा था कि दीपावली का माहौल हो।

इनसेट
14 दिनों तक बलिया में होगा उत्सव
परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने कहा कि 9 अगस्त 1942 में महात्मा गांधी का करो या मरो का नारा बलिया के क्रांतिकारियों के अंदर जैसे ही आया, बलिया के क्रांतिकारियों ने महात्मा गांधी के आहवान पर ब्रिटिश हुकूमत का सामना करते हुए बलिया को आजाद कराया। ऐसे में महापर्व पर बलिया बलिदान दिवस मनाते है। लेकिन एक दिन के यह पर्व से आज की पीढ़ी बलिदानियों की कुर्बानी को न भूल जाए इसको लेकर नौ अगस्त से 23 अगस्त तक जिले में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। इससे नौ अगस्त 1942 से लेकर 23 अगस्त तक उस पुरानी यादों को ताजा करते हुए हर साल एक वृहद कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। उसके लिये एक फंडिंग की व्यवस्था भी की जाएगी। इससे आयोजन में धन की कमी न हो सके। उन्होंने जिलाधिकारी से सेनानी फंड बनाने की बात कही। कहा कि अपने मित्रों, सामाजिक लोगों के सहयोग से एक करोड़ रूपये फंड में जमा करवाने का प्रयास करूंगा और उसके ब्याज से सेनानियों और शहीदों के परिजनों की मदद की जाएगी। मंत्री के इस विशेष पहल की डीएम रविंद्र कुमार और एसपी एस आनंद और डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने स्वागत किया।

इसे भी पढ़े -   Ballia : आमने-सामने दो कारों की भिड़न्त, पति-पत्नी घायल

धर्मेंद्र सिंह ने कार्यक्रम में लगाया चार चांद
परिवहन मंत्री के छोटे भाई धर्मेंद्र सिंह ने जश्ने आजादी को सफल बनाने के लिये पूरी ताकत और उर्जा के साथ कार्यक्रम को सफल बनाया। इसकी सराहना सभी ने की । धर्मेंद्र सिंह एक सामाजिक सोच के है जिसके तहत वह समाज में बेहतर कार्य करके अपनी एक अलग पहचान बनायी है। आतिशबाजी के कार्यक्रम की सफलता में उन्होंने बढ़ चढ़कर हिस्सदारी करते हुए सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए बधाई दी। इस अवसर पर अरूण सिंह बंटू कमलेश सिंह, घनश्याम दास जौहरी, अभिषेक सोनी, गुड्डू राय, सुमित कुमार, प्रेम प्रकाश सिंह पिंटू, प्रणव सिंह, सच्चिदानन्द सिंह, अशोक सिंह, राजेश गुप्ता, नारद सिंह, अमिताभ श्रीवास्तव, नकुल चौबे आदि मौजूद रहे।

Related posts:

Ballia : आपसी रंजिश में जमकर मारपीट, एक दर्जन से अधिक घायल
बलिया में इस दिन होगा लोक अदालत का आयोजन, ट्रायल बैठक में
बलिया में भ्रष्टाचार का मामला उजागार, दो अधिकारी सस्पेंड
सीएमओ ने दो कर्मचारियों को किया निलंबित, जानें कौन-कौन
Ballia : आजादी के महानायक चित्तू पांडेय ने फूंकी थी अंग्रेजों के खिलाफ बगावत की बिगुल: उपेंद्र
गंगा रन' में 4 को दौड़ेगा बलिया, स्टेडियम में 3 तक कराएं रजिस्ट्रेशन
Ballia : प्रसिद्ध भोजपुरी गायिका नेहा सिंह राठौर छह को बलिया में
Ballia : मांसाहारी व तले, भूने भोजन से बच्चों को दूर रखें: डॉ0 राजेश सरोज
एनसीसी कैम्प में पहुंचे डीएम-एसपी, कैडेट्स का बढ़ाया.....
Ballia : दो मार्च तक निरस्त रहेगी लखनऊ-छपरा एक्सप्रेस

Leave a Comment