Ballia : अधिवक्ताओं ने स्व. हरेराम मिश्रा को दी श्रद्धा पूर्वक श्रद्धांजलि


जिला जज ने उनके आदर्शाें को आत्मसात करने की दी सलाह
दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री बाल्मिकी तिवारी ने भी की शिरकत और दी श्रद्धांजली
बलिया।
दुनिया के कई देशों स्विटजरलैंड के जिनेवा व अन्य देशों में आयोजित विभिन्न सम्मेलनों में यूएनएसएके उपाध्यक्ष के रूप में प्रतिनिधित्व करने वाले तथा स्टूडेंट यूनियन के संविधान निर्माता गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रथम अध्यक्ष व प्रखर अधिवक्ता स्व. हरेराम मिश्रा की श्रद्धांजलि सभा क्रिमिनल एंड रेवेन्यू बार एसोसिएशन के ऊपरी तल पर उनके पुत्र गण अभियंता प्रदीप कुमार मिश्रा, एडवोकेट प्रमोद कुमार मिश्रा, अधिवक्ता पुत्री प्रियंका मिश्रा, बड़ी बेटी विमला, पूनम व बहुओं के सानिध्य में सम्पन्न हुआ। उपस्थित मुख्य अतिथि जिला जज अशोक कुमार सप्तम, अन्य न्यायिक अधिकारी तथा बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश इलाहाबाद के पूर्व चेयरमैन व वर्तमान सदस्य अरुण कुमार त्रिपाठी, उपाध्यक्ष जय नारायण पांडे, वरिष्ठ अधिवक्ता शंभूनाथ उपाध्याय, पूर्व अध्यक्ष कौशल कुमार सिंह, सुभाष चंद्र श्रीवास्तव, क्रिमिनल एंड रेवेन्यू बार एसोसिएशन के अध्यक्ष देवेंद्र नाथ मिश्रा तथा वरिष्ठ व कनिष्ठ अधिवक्ताओं ने स्व. मिश्रा जी के चित्र पर श्रद्धा पूर्वक श्रद्धा सुमन अर्पित किया और उन्हें भाव पूर्ण तरीके से उनके उपलब्धियों पर विस्तृत प्रकाश डाला। जिसमे सबसे महत्वपूर्ण बिंदू का केंद्र उनकी सरलता, सहजता, कार्य के प्रति निष्ठा व गंगा तट का स्थायी रूप से पैदल स्नान करने व संयमित जीवन जीते हुए लगभग 86 वर्षाें में मृत्यु होना चर्चा का अदभुत विषय रहा, जिसकी प्रसंशा हर अधिवक्ता कर रहे थे। यानी सबसे महत्वपूर्ण सरलता एवं संयम था। इस कार्यक्रम का संचालन रतन प्रकाश मिश्रा एडवोकेट ने शायरी पढ़ते हुए किया।

Leave a Comment