Ballia : खत्म हुई बाधाएं, कूड़ा निस्तारण केंद्र चलाने की मिली अनुमति


परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह के प्रयास पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दी हरी झंडी
बलिया।
नगर क्षेत्र से निकलने वाले कूड़ा-कचरा के निस्तारण के लिए नगर पालिका परिषद के सहयोग से बसंतपुर में बनाए गए कूड़ा निस्तारण केंद्र के संचालन में आने वाली सारी बाधाएं समाप्त हो गई हैं। जी हां, मामले में प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री व नगर विधायक दयाशंकर सिंह के लगातार प्रयास के बाद उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इसके संचालन की अनुमति दे दी है। ऐसे में अब इसके संचालन को लेकर आ रही सारी बाधाएं खत्म हो गई हैं।

इसके चालू होने से अब नगर में जहां लोगों को कूड़ा-कचरा से निजात मिल जाएगी, वहीं गंगा नदी की तरफ़ जाने वाले रास्ते पर फैले रहने वाले कूड़े के दुर्गंध से भी आम-अवाम को राहत मिलेगी। यही नहीं, बड़ी बात है कि कूड़ा निस्तारण केंद्र के शुरू होने के बाद कूड़े से जैविक खाद का उत्पादन भी शुरू होगा, जिससे किसानों को काफ़ी फ़ायदा होगा। बता दें कि यह कूड़ा निस्तारण केंद्र मार्च, 2023 में ही बनकर तैयार हो गया था। एएफ़सी इंडिया द्वारा इसके संचालन के लिए अनुमति मांगी गई थी, परंतु उस समय एनजीटी के आदेश के क्रम में इसके संचालन पर तत्कालीन जिलाधिकारी ने रोक लगा दी थी।

इससे प्लांट बनने के बाद भी जहां बंद पड़ा था, तो नगर में कूड़ा-कचरा की समस्या भी जस की तस पड़ी थी। इसे लेकर नगर पालिका परिषद व इसके संचालन में लगी कंपनी लगातार प्रयास में लगी थी। मामले में परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व शासन स्तर पर लगे थे, जिसके बाद इसके संचालन की अनुमति मिल गई। ऐसे में इसके संचालन की अनुमति मिलने के बाद अब नगर के लोगों को कूड़ा-कचरा से निश्चित तौर पर राहत मिल जाएगी।
बायो फ्यूल बनाने का मार्ग होगा प्रशस्त
बलिया।
कूड़ा निस्तारण केंद्र के शुरू होने के बाद यहां बायो फ्यूल बनाने का मार्ग भी प्रशस्त हो जाएगा। जिले में हुए इंवेस्टर समिट में बाहर से आईं एकाध कंपनियों ने कूड़ा निस्तारण केंद्र से बायो फ्यूल बनाने की संभावना जताई थी। उस समय कंपनी के लोगों ने प्लांट का निरीक्षण भी किया था, लेकिन इसके संचालन पर ही रोक लग गया। ऐसे में संचालन की अनुमति मिलने के बाद इसकी संभावना भी प्रबल हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *