Ads

1 / 3
Caption Text
2 / 3
Caption Two
3 / 3
Caption Three
3 / 3
Caption Three

Ballia : महावीरी झंडा जुलूस को सकुशल संपन्न कराने को लेकर हुई शांति समिति की बैठक


परंपरागत व शांतिपूर्ण ढंग से हो जुलूस का आयोजन: ज़िलाधिकारी

मनोज कुमार
बलिया।
महावीरी झंडा जुलूस को सकुशल संपन्न कराने को लेकर जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक रविवार को जिलाधिकारी रवींद्र कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में हुई, जिसमें एक-एक कर सभी अखाड़ेदारों से बातचीत कर उनकी समस्याएँ सुनी और पूरी ज़िम्मेदारी के साथ समाधान कराने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिये। साथ ही अखाड़ेदारों को सुरक्षा व अन्य व्यवस्था के दृष्टिगत जरूरी सतर्कता बरतने के लिए कहा। ज़िलाधिकारी ने सड़क पर गड्ढे, लटके तार व अन्य समस्याओं को देख उसे तत्काल दूर कर लेने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। बीडीओ बांसडीह व ज़िला क्रीड़ाधिकारी के अनुपस्थित रहने पर वेतन रोकते का आदेश देते हुए स्पष्टीकरण तलब किया। जिलाधिकारी ने कहा कि जुलूस का आयोजन पहले से चल रही अपनी परंपरा के अनुसार, हर्षाेल्लास व शांतिपूर्ण ढंग से ही होना चाहिए। कोई ऐसा कार्य न किया जाए, जिससे किसी की पवित्र भावना को ठेस पहुँचे। उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि क़ानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ हुआ तो कड़ी कार्रवाई होगी। इसलिए सभी अखाड़ेदार अपनी जुलूस में वालंटियर को इसके प्रति सजग कर दें। सभी अखाड़ेदार इस बात का भी ख्याल रखें कि सभी जुलूस निर्धारित रूट से ही जाए, उनके सभी वालंटियर शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए मुस्तैद रहें। सभी अखाड़ेदारों को अपने मार्ग की पूरी जानकारी हो। जुलूस के लिए पहले से निर्धारित समय का विशेष ख्याल रखें। निर्धारित समय से जुलूस शुरू हो जाए, और समय से पहुँच भी जाएँ।

नगर पालिका के ईओ को निर्देश दिया कि सभी रास्तों पर साफ-सफाई व समुचित प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित कराएंगे। अगर जुलूस के रास्ते मे कहीं कोई अतिक्रमण हो तो उसको भी हटवा दिया जाए। निर्देश दिया कि पानी के टैंकर में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था हो। विद्युत विभाग के एक्सईएन को निर्देश दिया कि किसी भी हालत में बिजली आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए। आवश्यकता पड़े तो जुलूस के रास्ते में जेनरेटर से भी बिजली सप्लाई की व्यवस्था रखें। अखाड़ेदारों से यह भी अपील किया कि डीजे का साउंड निर्धारित मात्रा से अधिक कत्तई न हो। एसपी एस. आनंद ने कहा कि यह ऐतिहासिक जुलूस है। इसका उद्देश्य पवित्र रही है, इसकी अपनी गरिमा है। उसी गरिमा के अनुरूप शांतिपूर्ण ढंग से ही यह त्योहार मनाया जाए। अखाड़ेदारों को वालंटियर की सूची देने को कहा, ताकि उनका परिचय पत्र बन सके। विशेष रूप से हिदायत दी कि जुलूस में अगर कोई भी ग़ैरक़ानूनी हरकत देखने को मिली तो कठोर कार्रवाई पुलिस की ओर से होगी। बैठक में सीडीओ प्रवीण वर्मा, एडीएम डीपी सिंह, एएसपी दुर्गाशंकर तिवारी, सभी एसडीएम, सीओ, बीडीओ, थानाध्यक्ष व शिवकुमार कौशिकेय, अफ़सर आलम, असग़र अली के अलावा शांति समिति के सदस्य मौजूद थे।
कुल 25 जगहों पर निकलेगा जुलूस
30/31 अगस्त को ज़िले के 25 जगहों पर महावीरी झंडा जुलूस निकलेगा। सबसे ज्यादा 10 जुलूस बलिया शहर में निकलेगी। इसके लिए जुलूसवार मजिस्ट्रेट तैनात कर दिया गया है। ज़िलाधिकारी ने सभी अखाड़ेदार व उनके यहाँ तैनात मजिस्ट्रेट को निर्देश दिया कि आपस के समन्वय बनाकर जुलूस को सकुशल संपन्न कराएँ। मजिस्ट्रेट भी जाकर अपनी जुलूस के रास्तों को देख लें। कहीं भी दिक्कत समझ में आये तो संबंधित अधिकारी से बात कर उसे दूर कराएँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *