Ballia : आनंद दुबे ने संभाला वरिष्ठ कोषाधिकारी का कार्यभार

रोशन जायसवाल,
बलिया।
अफसर हो तो आनंद दुबे जैसा, सरल स्वभाव व व्यवहार और बेहतर व्यक्तित्व के धनी आनंद दुबे जो कड़ी मेहनत और संघर्ष के बदौलत आज इस मुकाम तक पहुंचे है। हालांकि वह एक आईएएस बनना चाहते थे लेकिन किस्मत ने उनको वरिष्ठ कोषाधिकारी के पद पर लाकर बैठा दिया। वैसे चर्चा यह भी होती है कि आनंद दुबे के पढ़ाये हुए कई लड़के आईएएस भी बन गये है। बचपन में ही पढ़ने में तेज आनंद दुबे 1999 में हाईस्कूल की परीक्षा शाहगंज के एक विद्यालय में दी थी।

उस समय उनके यहां विद्युत की समस्या थी जिससे वह ढिबरी जलाकर पढ़ाई करते थे। प्रयागराज यूनिवर्सिटी से ग्रेजूएशन और वाराणसी बीएचयू से पीएचडी की। श्री दुबे 2013 बैच के अधिकारी है। वैसे उनका बलिया से उस समय लगाव बना जब उन्होंने किसी को पढ़ाई में सहयोग किया। आज भी वह किसी उच्च पद पर है।

श्री दुबे की प्राथमिकता है कि जनता की सेवा के लिये वह हमेशा तत्पर रहेंगे। उन्होंने बताया कि जनसेवा की सबसे बड़ी पूजा है और यह बहुत जरूरी भी है। उनकी पूरी कोशिश होती है कि उनके यहां से कोई निराश होकर नहीं जाएं। सोमवार को उन्होंने वरिष्ठ कोषाधिकारी के पद पर कार्यभार संभाल लिया।

वैसे इस पद पर पहले ममता सिंह थी। अयोध्या में उनके स्थानांतरण के बाद इस कुर्सी पर हिमांचल बैठें। अब हिमांचल ने अपनी पूरी जिम्मेदारी आनंद दुबे को देते हुए उनका स्वागत किया। इस दौरान रामचंद्र, धर्मनाथ गिरि, अवधेश यादव, दिनेश कुमार शुक्ला आदि ने बुके देकर स्वागत किया।

इसे भी पढ़े -   बलिया शहर में घुसा बाढ़ का पानी, ये मंदिर हो गया....

Leave a Comment