Ballia : अवलेश को अखिलेश के आदेश का इन्तजार

बोले, मैंने अपने नेता अखिलेश के लिए छोड़ दिया जदयू
रोशन जायसवाल,
बलिया।
वक़्त वक़्त कि बात हैं जब कोई नेता कोई निर्णय लेकर किसी दल कि सेवा मे लगता हैं और निरंतर उस दल के लिए काम कर्ता हैं और पार्टी के मिशन को आगे बढ़ाने मे अपना सब कुछ लगा देता हैं उसके बाद भी यदि उसे कोई सम्मान न मिले तो बहुत कष्ट होता हैं। यही हुआ अवलेश सिंह के साथ, जो आज हो गये अखिलेश के साथ।

अवलेश सिंह से विशेष बातचीत के कुछ अंश…
बोले मैं जब जदयू मे आया और अपने नेता नीतीश कुमार के लिए कड़ी मेहनत किया और जो पार्टी का लक्ष्य था उत्तर प्रदेश मे जदयू का ग्राफ बढ़े और ऐसा हुआ, पार्टी सक्रिय भूमिका में रहे, वह भी किया और मैंने पार्टी के मिशन को पूरा भी किया। छोटे बड़े कार्यक्रम, कार्यकर्ता सम्मान समारोह, सम्मेलन क्या नहीं हुआ यूपी में, सब कुछ अच्छा चलता रहा, जदयू इंडिया गठबंधन के साथ एक मजबूत दल के रूप मे थी, काम भी बड़ी मेहनत से कर रही थी,
अचानक मेरे नेता ने अपना निर्णय बदला और वह भाजपा के साथ हो गये। उसके बाद भी मैं अपने नेता के सम्मान मे पीछे नहीं हटा और चलता रहा। मेरी पूरी कोशिश थी कि बलिया और सलेमपुर लोकसभा सीट मे कोई एक सीट जो जदयू कि झोली मे हो और मै चुनाव लडू लेकिन ऐसा नहीं हुआ। यूपी में जदयू को भाजपा ने एक भी सीट नहीं दिया जिसके कारण मुझे अंदर से बहुत दुख हुआ और मैंने अपना फैसला बदला और जदयू को छोड़कर सपा को अपनाया और मै इस समय सपा मे बहुत खुश हूं कि मुझे अखिलेश यादव जैसा नेता मिला। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि मेरी दावेदारी बलिया से भी हैं और मुझे पूरा विश्वास हैं कि अखिलेश यादव मुझे अपना आशीर्वाद देंगे।

इसे भी पढ़े -   जलभराव की समस्या से निजात दिलाने के लिए राज्यमंत्री ने उठाया बड़ा कदम, आप भी जानें

Leave a Comment