Ballia : यूपी और बिहार की राजनीति को साध रहे एमपी के सीएम

रोशन जायसवाल,
बलिया।
आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी यादव वोट में सेंधमारी के प्रयास में है। भाजपा अब दलित वोट के बाद यादव वोट पर पूरी तरह से नजर लगायी हुई है। वैसे भी चर्चा यह है कि भाजपा जातिगत क्षेत्रीय दलों पर निशाना साध रही है। वर्तमान समय में भाजपा यादव वोट बैंक को अपने पक्ष में लेने के लिये मोहन यादव को मध्य प्रदेश में सीएम की कुर्सी पर बैठाकर यादव समाज को अपने पक्ष में लेना चाहती है। इस दांव से लालू यादव और अखिलेश यादव की सियासी गणित बिगाड़ सकती है भाजपा। बिहार और यूपी में पूरी तरह से भाजपा यादव वोट पर सक्रिय होना चाहती है। वैसे भी देश की सरकार बनाने में यादव बिरादरी की भी बड़ी भूमिका देखी जा सकती है। बिहार में जहां 14 फीसदी के करीब यादव है वहीं उत्तर प्रदेश में 10 फीसदी के बीच यादव समाज की आबादी हैं। इसी जातिगत और सियासी आंकड़ों को नजर में रखते हुए भाजपा ने मध्य प्रदेश में मोहन यादव को सीएम बनायी हुई है। बिहार में पहुंचे मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव की चर्चा यह हो रही है कि बिहार के सियासी समीकरण साधने की कमान उन्हें सौंपी गयी है। अब देखना यह होगा कि भाजपा यादव वोट पर अपना जादू चला पाती है या नहीं। वैसे यादव समाज के लिये बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव प्रभावशाली नेता है और इन्हें बिहार और यूपी में कई बार सत्ता हासिल हुई है। वैसे यूपी और बिहार के यादव अखिलेश और लालू को ही अपना नेता मानते है। ऐसे में भाजपा के लिये एक बड़ी चुनौती होगी कि वह कैसे यादव वोट पर कामयाबी हासिल कर पाती है। वैसे ये दोनों बड़े नेता यादव समाज को आगे बढ़ाने का काम किये है। वैसे यूपी में लोकसभा सीट 80 है और बिहार में 40 सीटें है।

इसे भी पढ़े -   Ballia : बच्चों ने चित्रकला में दिखायी अपनी कलाकारी, हैरत में निर्णायक

Leave a Comment