Ballia : स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के बीच अंतराष्ट्रीय महिला दिवस का हुआ आयोजन


बलिया।
राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक नाबार्ड द्वारा सेंट आर सेटी जीरा बस्ती, बलिया में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के बीच अंतराष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम का आयोजन जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड द्वारा किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ0 प्रतिभा त्रिपाठी पूर्व प्राचार्य एससी कॉलेज, बलिया ने द्वीप प्रज्वलन कर किया।

कार्यक्रम के दौरान समाज में बेहतर कार्य करने के लिए पाच महिलाओं डॉक्टर प्रतिभा त्रिपाठी, डॉ0 अमिता सिंह पुर्व अधीक्षक महिला चिकित्सालय, कनक चक्रधर कोषाध्यक्ष यूपी खो-खो, रौनक गुप्ता ट्रेनर रौनक एकेडमी, कंचन सिंह मां सुरसरी सेवा संस्थान को उपस्थित अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। साथ ही इस दौरान उपस्थित महिलाओं को चिकित्सक डॉ0 अमिता सिंह द्वारा स्वास्थ्य संबंधी जानकारी से अवगत कराया, कार्यक्रम के दौरान समूह की महिलाओं ने प्रेरणा गीतों के माध्यम से कार्यक्रम की शुरुआत किया।

उन्होंने कहा कि अपना वजूद भुलाकर हर किरदार निभाती है, यह वह देवी है जो घर को स्वर्ग बनाती है। हजारों दीपक चाहिए एक आरती सजाने के लिए, हजारों बूंद चाहिए समुद्र बनाने के लिए, मगर एक स्त्री अकेली ही काफी है एक घर को स्वर्ग बनाने के लिए। कुछ लोग कहते है की नारी का कोई घर नहीं होता, अरे आप ये क्यों नहीं समझते की नारी के बिना कोई बचत घर ही नहीं होता। इस दौरान आर सेटी के निर्देशक सुमन कुमार ने अपने सम्बोधन में कहा कि हर साल 08 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है, इसका उद्देश्य महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करना है, जिससे महिलाओं को उनका हक मिल सके और उन्हें पुरुषों के बराबर अधिकार मिलें।

इसे भी पढ़े -   Ballia : अपने ही सरकार के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश

महिलाएं समाज का एक अहम हिस्सा हैं, लेकिन बदलते वक्त के साथ महिलाएं आज राष्ट्र निर्माण में भी अपना योगदान दे रही हैं। कार्यक्रम के दौरान नाबार्ड के डीडीएम मोहित यादव ने कहा कि खेल जगत की बात करें, मनोरंजन की या फिर राजनीति के क्षेत्र में, महिलाएं हर क्षेत्र में अपनी बड़ी भूमिका का निर्वहन कर रही हैं। इसी के उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष 08 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है ताकि महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जा सके।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष का थीम है ’’महिलाओं में निवेश’’ प्रगति में तेजी लाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि कहा घर-परिवार से सीमित रहने वाली महिलाएं जब चारदीवारी से बाहर निकल अन्य क्षेत्रों की ओर बढ़ी तो उन्हें अभूतपूर्व सफलता मिलने लगी। महिलाओं की इसी भागीदारी को बढ़ाने और अपने अधिकारों से अनजान महिलाओं को जागरूक करने व उनके जीवन में सुधार करने के उद्देश्य से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम मनाया जा रहा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता अमिता सिंह पुर्व अधीक्षक महिला चिकित्सालय ने तथा संचालन माँ सुरसरी सेवा संस्थान के सचिव डॉ0 सुधीर कुमार सिंह ने किया। कार्यक्रम के दौरान पूर्व निर्देशक आर सेटी दिनेश यादव, पूर्व वरिष्ठ प्रबंधक देवेंद्र कुमार, निर्देशक एफएलसीसी अनिल कुमार शुक्ल आदि ने संबोधित किया।

Leave a Comment