Ballia : पंचमुखी हनुमत प्राण प्रतिष्ठात्मक यज्ञ के तीसरे दिन हुआ षोडशोपचार पंचांग पूजन


बलिया।
इसारी सलेमपुर में आयोजित पंचमुखी हनुमत प्राण प्रतिष्ठात्मक यज्ञ के तीसरे दिन षोडशोपचार पंचांग पूजन दस दिग्पालादि पूजन विधि-विधान से किया गया। इसके पश्चात् श्री हनुमान जी के पंचमुखी प्रतिमा का अन्नाधिवाश आचार्यगण के निर्देशानुसार विधिवत पूजन-अर्चन के साथ कार्यक्रम सम्पन्न हुआ, जिसमें यजमान सहित क्षेत्र की श्रद्धालू भक्तों मेे पुरुष एवं महिलाएं भारी संख्या में उपस्थित होकर अन्न समर्पित किए। यज्ञ में प्रतिदिन चल रहे रात्रिबेला में प्रवचनकर्ता अमरनाथ जी महाराज ने रामचरित मानस में वर्णित दशरथ रानियों को पुत्र की प्राप्ति में रामावतार पर विस्तृत प्रकाश डाला। राजा दशरथ का गुरु वशिष्ठ के आदेशानुसार महर्षि श्रृंगी को बुलवाकर पुत्रेष्टि यज्ञ कराने एवं उसके प्रभाव से रानी कौशल्या से राम कैकई से भरत तथा सुमित्रा से लक्ष्मण तथा शत्रुघ्न के उत्पत्ति की कथा उनके बाल्य क्रीड़ा गुरुकुल में जाकर सारी विद्याएं प्राप्त किए जाने की कथा विभिन्न उदाहरणों तथा कई सारी कथाओं के माध्यम से अत्यन्त ही रोचक तरीके से सुनाई।

इसे भी पढ़े -   तूल पकडऩे लगा मारपीट की घटना, पूर्व मंत्री जियाउद्दीन रिजवी उतरे मैदान में बोले

Leave a Comment