Ballia : पुलिस आऱक्षी भर्ती परीक्षा: 11 गैंग्स मेंबर सहित 14 अभियुक्त गिरफ्तार, नकदी के साथ भारी मात्रा में डिवाइस बरामद

बलिया । एसओजी, सर्विलांस टीम व थाना कोतवाली पुलिस की 04 अलग अलग टीमों द्वारा पुलिस आऱक्षी भर्ती परीक्षा पास कराने का झांसा देकर अभ्यर्थियों से पैसे की वसूली करने व दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने, परीक्षा केन्द्र के बाहर से ब्लूटूथ व वाकी-टाकी से नकल कराने वाले 11 गैग्स मेंबर समेत 14 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है।

वहीं गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से एक लाख दो सौ बीस रुपये, 46 अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र, 22 मूल अंक प्रमाण पत्र, सनद व 16 ब्लैंक चेक, एक वाकी टाकी सैट, दो इलेक्ट्रानिक डिवाइस, एक ब्लूटूथ, दो डिवाइस बैट्री, दो सिम, एक आधार कार्ड, एक एटीएम कार्ड व एक डीएल बरामद हुआ है। पुलिस ने सभी अभियुक्तों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय चालान कर दिया। पुलिस ने अब तक थाना रसड़ा से 01, बांसडीहरोड से 01 व थाना कोतवाली से 12 मिलाकर कुल 14 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है।

पहली गिरफ्तारी:
सदर थाना क्षेत्र कोतवाली अन्तर्गत गुलाब देवी स्नातकोत्तर महाविद्यालय पुलिस प्रोन्नति बोर्ड द्वारा आयोजित आरक्षी भर्ती परीक्षा वर्ष के द्वितीय पाली के परीक्षा के दौरान अभ्यर्थी उपेन्द्र यादव के स्थान पर फर्जी तरीके से परीक्षा दे रहे एक अभियुक्त मनीष कुमार यादव पुत्र बैज नाथ यादव निवासी आरजी करियारपुर मासुमपुर थाना खेजुरी को कूट रचित दस्तावेज के साथ धर दबोचा। पुलिस स्कूल प्राचार्य द्वारा प्राप्त तहरीर के आधार पर थाना स्थानीय पर मनीष यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कारवाई में जुट गयी। वहीं उपेन्द्र कुमार यादव पुत्र बैजनाथ यादव निवासी करियापर मसुमपुर थाना खेजुरी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

इसे भी पढ़े -   Ballia : बलिया पहुंचे अमृतेश का हुआ जोरदार स्वागत

दूसरी गिरफ्तारी:

17 फरवरी को थाना कोतवाली पुलिस को जरिये मुखबिर सूचना प्राप्त हुयी कि पुलिस भर्ती परीक्षा में एक तीन लोग सक्रिय है जो लोग उप्र पुलिस भर्ती में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झांसा देकर वसूली करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धनार्जन कर रहे हैं तथा निर्धारित एडवांस वसूलने की फिराक में है। इस सूचना पर कोतवाली पुलिस टीम द्वारा मय फोर्स के साथ टीम गठित कर चन्द्रशेखर पार्क के गेट के पास से पुलिस टीम द्वारा पकड़ा गया। पूछताछ में अभियुक्तों ने अपना नाम अभय कुमार श्रीवास्तव पुत्र स्व. विश्वनाथ प्रसाद निवासी जेपी नगर गडवार रोड थाना कोतवाली बलिया, विनित कुमार राम पुत्र स्व. सुदामा राम निवासी मिसरौली थाना पकड़ी, रुकुमकेश पाल उर्फ मुन्ना पाल पुत्र स्व. शिवलगन पाल निवासी मडया थाना कोतवाली, आजमगढ बताया। तलाशी में अभियुक्तों के पास से 16 ब्लैंक चेक, 12 एडमिट कार्ड (छायाप्रति, व 22 मूल अंकपत्र/सनद बरामद किया गया। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि पुलिस भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों से भर्ती होने के बाद इन ब्लैंक चेकों में 10,00,000 रुपये प्रति कन्डिडेट की योजना बनाये थे। आज वही सर्टिफिकेट व कागजात परीक्षा समाप्त होने के बाद लड़को से प्राप्त हुआ जिसे हम लोग यहीं चन्द्रशेखर नगर पार्क के पास इकट्ठा कर रहे थे कि अचानक आप लोगों द्वार पकड़ लिया गया। जब उक्त तीनों से सर्टिफिकेट किसको देने के लिए, लिए हो पूछा गया तो तीनों ने एक स्वर में कहा कि साहब हम तीनों मिलकर अभय कुमार श्रीवास्तव के द्वारा बनायी गयी योजना के अनुसार कन्डीडेटों के सर्टिफिकेट इकट्ठा किये हैं। यह सर्टिफिकेट किसी को न तो देना था और न ही किसी माध्यम से भर्ती कराने की बात है। जब परीक्षा परिणाम आयेगा तो कुछ अभ्यर्थी अपने आप चयनित हो सकते हैं। तब उनका पैसा हम लोग प्राप्त करके आपस में मिलकर बांट लेते, साहब जो भी बात है अन्य किसी का हाथ इसमें नहीं है।

इसे भी पढ़े -   Ballia : संघ का उद्देश्य क्षणिक नहीं बल्कि देश को ऊंचाई पर ले जाना है: विनय

तीसरी गिरफ्तारी:

इसी क्रम में थाना कोतवाली पुलिस की दूसरी टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर माल गोदाम रोड मन्दिर के पास से कुल 03 अभियुक्तों फतेहबहादुर राजभर पुत्र दीनानाथ राजभर निवासी पहाड़पुर थाना हलधरपुर जनपद मऊ, अजीत यादव पुत्र शिवजनक यादव निवासी गौरनिया थाना पकड़ी, वरुण कुमार यादव पुत्र रामप्रवेश यादव निवासी विसुकिया थाना गड़वार को स्विफ्ट कार से गिरफ्तार किया गया । जिनके कब्जे से कुल 34 उप्र पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा प्रवेश पत्र बरामद किया गया। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि हमलोग इन्ही एडमिट कार्डों के अभ्यर्थियों को भर्ती कराने के नाम पर पैसा वसूलने के फिराक में थे, हमलोग इस काम को प्रदीप यादव के माध्यम से कराने वाले थे। फतेहबहादुर द्वारा बताये गये प्रदीप यादव के मोबाईल नम्बर पर काल की गयी तो उसका नम्बर स्विच आफ मिला।

चौथी गिरफ्तारी:
इसी क्रम में एसओजी व सर्विलांस टीम बलिया व थाना कोतवाली की संयुक्त पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर दबिस देते हुए अमृतपाली अण्डर पास से कुल 05 नफर अभियुक्तों अमित यादव पुत्र लोकनाथ यादव, पाण्डेयपुर थाना फेफना, विशाल यादव पुत्र विनोद यादव तीखा थाना फेफना, अंकित यादव पुत्र हरेराम यादव, पहाडपुर चिलकहर थाना रसडा, निखिल यादव पुत्र राजेश यादव निवासी बिसुकिया थाना गडवार, गिरजाशंकर पुत्र रामनाथ वरवा थाना भीमपुरा को ब्रेजा कार से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तों के कब्जे से 01 वाकी टाकी सेट, दो इलेक्ट्रानिक डिवाइस, 01 ब्लूटूथ, 02 डिवाइस बैट्री, 02 सिम, 01 आधार कार्ड, 01 एटीएम कार्ड, 1 डीएल सहित नकद 1,00220 रूपये बरामद किया गया।

पूछताछ में अभियुक्तो ने बताया कि हम सभी लोग एक राय होकर अभ्यर्थियों को बहला फुसलाकर उनके कान में ब्लूटूथ लगाकर परीक्षा केन्द्र पर भेजते हैं और वहीं से पेपर आउट कराकर साल्व करके उन सभी प्रश्नों का उत्तर उन अभ्यर्थियों को भेजते हैं। हम लोगों द्वारा पुलिस परीक्षा, सीटेट, यूपी टेट के परीक्षार्थियों को परीक्षा में चयन कराने का झांसा देकर 7,00,000 रुपये प्रत्येक कैंडिडेट से लेते हैं और इन सब रुपयों को आपस में बाट लेते हैं। पुलिस भर्ती परीक्षा में भी 20-25 परीक्षार्थीयों से पैसा लिया गया है जिनको ब्लूटूथ व वाकी टाकी व इलैक्ट्रानिक डिवाईस के माध्यम से नकल कराने की बात बतायी गयी थी परंतु आज हम लोग पकड़े गये। अभियुक्तों ने बताया कि हमारे साथ और लोग भी काम करते हैं जिनमें मऊ, हलधरपुर के रहने वाले शैलेश यादव व ज्वाला चौहान हैं। किन्तु उनका पता ज्ञात नही है। अनूप यादव पुत्र लोकनाथ यादव निवासी पाण्डेयपुर थाना फेफना जनपद बलिया के साथ हम लोगो की आपस में मीटिंग की गयी थी और उसी मीटिंग में तय हुआ था कि किसको क्या काम करना है उसी के अनुसार वाकी टाकी और सभी इलेक्ट्रानिक डिवाईस उन तीनों द्वारा हम सभी को उपलब्ध करायी जाती है।

इसे भी पढ़े -   Ballia : कार्तिक कल्पवास की 27वीं संध्या पर 52 वर्ष बाद चौथी पीढ़ी ने लगाई हाजिरी

Leave a Comment