Ballia : प्रत्याशियों के चुनावी खर्च पर टीम की रहेगी नजर

लोकसभा चुनाव
वरिष्ठ कोषाधिकारी आनंद दुबे ने बनायी टीम
बलिया।
लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों द्वारा खर्च किये जाने वाली धनराशियों पर विशेष नजर वरिष्ठ कोषाधिकारी आनंद दुबे की टीम की रहेगी। चुनावी रैली, पोस्टर, सार्वजनिक सभाएं, बैठकों, वाहनों, प्रिंट या इलेक्ट्रानिक मीडिया पर विज्ञापनों पर खर्च की जाने वाली धनराशि पर नजर रहेगी। बतातें चले कि चुनाव आयोग द्वारा प्रत्याशियों द्वारा खर्च की जाने वाली धनराशियों की एक सीमा तय की गयी है। उस सीमा से बाहर यदि खर्च हुआ तो जांच के बाद मामला सही पाये जाने पर प्रत्याशियों की सदस्यता रद भी हो सकती है। इसलिये आवश्यकता है कि चुनाव आयोग के गाइडलाइन के अनुसार प्रत्याशी नियमों का पालन करेंगे, जो उनके हित में होगा।


लोकसभा चुनाव को जिला प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड में है। जिले के आला अधिकारी सहित गठित की गई टीमें लगातार चुनाव को लेकर निरीक्षण, व्यवस्था और भ्रमण के प्रति गतिशील है। वरिष्ठ कोषाधिकारी आनंद दुबे के द्वारा लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2024 में प्रत्याशियों को दिए जाने वाले व्यय लेखा रजिस्टर का ध्यान पूर्वक जांच किया जा रहा है। वरिष्ठ कोषाधिकारी आनंद दुबे ने बताया कि आयोग के लिए यह सुनिश्चित करना बाध्यकारी और अनिवार्य हो जाता है कि प्रत्येक निर्वाचन स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी और शांतिपूर्ण तरीके से संचालित किया जाए। आयोग का यह प्रयास है कि अभ्यर्थियों और राजनीतिक दलों समेत सभी हितधारकों के लिए एक समान अवसर दिए जाए। निर्वाचन व्यय की पहली श्रेणी विधिक व्यय है, जिसकी निर्वाचन प्रचार के लिए कानून के अंतर्गत अनुमति दी गई है।

बशर्ते अनुमति सीमा के भीतर हो इसमें प्रचार अभियान से जुड़ा वह व्यय भी शामिल होगा जो सार्वजनिक बैठकों, रैलियों, पोस्टर, वाहनों, प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया आदि में विज्ञापनों पर खर्च की जाती है। हर किसी के लिए निर्धारित नियम बनाए गए हैं, जिसका उल्लंघन करने पर संबंधित धाराओं में कार्यवाही की जाएगी।

इसे भी पढ़े -   Ballia : कोयलावीर बाबा मंदिर हैबतपुर के पास पुलिस ने की घेराबंदी, मिली बड़ी सफलता

Leave a Comment