Ballia : बरनवाल समाज के आदि पुरुष महाराजा अहिवरन की जयंती 25 व 26 दिसम्बर को


सिकन्दरपुर (बलिया)।
बरनवाल समाज उत्तर प्रदेश के बुलन्द शहर में अपने आदि पुरुष महाराजा अहिवरन जी की जयन्ती राष्ट्रीय स्तर पर आगामी 25 एवं 26 दिसम्बर को मनायेगा, जिसकी तैयारी युद्ध स्तर पर जारी है। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पूरे प्रदेश के अन्दर बैठकों के माध्यम से बरनवाल बन्धुओं को प्रेरित किया जा रहा है। सिकंदरपुर के सरस्वती शिशु मंदिर के प्रांगण में शनिवार की देर शाम बरनवाल बन्धुओं की आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए उत्तर प्रदेशीय बरनवाल वैश्य सभा के पूर्व प्रदेश महासचिव पत्रकार जयप्रकाश बर्नवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेशीय बरनवाल बैश्य सभा के संयोजकत्व में आगामी 25 व 26 दिसम्बर को इस वर्ष राष्ट्रीय स्तर अपने आदि पुरुष महाराजा अहिवरन जी की जयन्ती मनाने जा रहा है। इस समारोह में लगभग 5 हजार के करीब स्वजातीय बन्धुओं के पहुंचने की सम्भावना है। उन्हांेने इस आयोजन में सपत्नीक अधिकाधिक संख्या में पहुंचने की अपील की। उन्हांेने इस बात से भी अवगत कराया कि बुलन्द शहर का पुराना नाम बरन नगर रहा है। लेकिन उसे खत्म कर नया नाम बुलन्द शहर कर दिया गया। इसके अलावे बुलन्द शहर की सदर तहसील आज भी बरन नगर के नाम से संचालित है। आगे कहा कि हमारा समाज सर्वाधिक रूप से व्यवसायिक होने के नाते राजनैतिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक स्तर पर अपनी पहचान कायम करने में काफी पीछे चल रहा है। उन्होंने सभी के अन्दर चेतना भरते हुए कहा कि संगठन स्तर पर तन, मन व धन से सहयोग कर वास्तविक हक के लिए अपनी शक्ति का एहशास कराने हेतु एक जुट होने का आह्वान किया। बैठक का शुभारम्भ महाराजा अहिवरन के चित्र पर मुख्य अतिथि जयप्रकाश बर्नवाल द्वारा पूजन, अर्चन, माल्यार्पण के बाद किया गया। स्वजातीय बन्धुओं ने अपने मुख्य अतिथि को माला पहना कर गगनभेदी नारों के साथ स्वागत किया। मुख्य अतिथि जयप्रकाश बर्नवाल ने सफल बैठक आयोजित करने में मुख्य भूमिका निभाने वाले अरविन्द कुमार बरनवाल उर्फ झब्बू, ओमप्रकाश बरनवाल उर्फ ओम जी एवं राकेश बरनवाल का मंच पर माला पहनाकर स्वागत किया। बैठक में कुमारी कसक बर्नवाल ने मुख्य अतिथि के सम्मान में स्वागत गीत प्रस्तुत किया। बैठक में प्रमुख रुप से सुरेश जी उर्फ टुनटुन, पारस बरनवाल, अजय बरनवाल उर्फ बब्लू, राजेश बर्नवाल, अविनाश बरनवाल, जयप्रकाश बरनवाल, संजय बरनवाल उर्फ बब्लू, अमन बरनवाल पुत्र झब्बू, राजेश बरनवाल, संजय बरनवाल, अरुण बरनवाल, एवं रतसर से गोपाल बरनवाल, पिन्टू बरनवाल, राजेश बर्नवाल, उमेश बरनवाल, चंचल बरनवाल आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता अरविन्द बरनवाल एवं संचालन राकेश बरनवाल ने किया।

Leave a Comment