Ballia : सरयू नदी की कटान से उजड़ गया गोपाल नगर टाड़ी गांव


बैरिया (बलिया)।
सरयू नदी की कटान के आगोश में आने के बाद गोपाल नगर टाड़ी गांव उजड़ गया है। कुछ लोगों का आशियाना नदी में समा गया है तो वहीं बाकी लोगों ने अपना घर मकान अपने हाथों से उजाड़ कर सुरक्षित स्थानों पर जाकर शरण लेना शुरू कर दिया है। ग्रामीणों की मानें तो सरकार द्वारा अभी तक कटान पीड़ितों को किसी भी तरह की सहायता प्रदान नहीं की गई है, जिससे प्रकृति के कहर के कारण उन्हें कष्ट झेलना पड़ रहा है। अधिकांश लोग अपना आशियाना उजाड़ कर जूनियर हाई स्कूल गोपाल नगर (पानी टंकी) के सामने के खेतों में जाकर शरण लेना शुरू कर दिए हैं। अपना मड़हा, झोपड़ी वहां जाकर लगा रहे हैं। जिन लोगों ने कटान के जद में आने के भय से अपना आशियाना अपने हाथों से उजाड़ा है, वे लोग गोपाल नगर पानी टंकी के सामने के खेतों में झोपड़ी, पाला, पलानी लगना शुरू कर दिया है, जिसमें राजाराम यादव, चंद्रदीप यादव, श्रीभगवान यादव, रामाशंकर यादव आदि शामिल हैं। गांव के लोगों का कहना है कि कटान रोधी कार्य एक सप्ताह से यहां बंद हो चुका है। बाढ़ विभाग का कोई भी अधिकारी कर्मचारी यहां झांकने तक नहीं आया है। अलबत्ता लेखपाल यहां सुबह से देर शाम तक जरूर मौजूद रहते हैं। उक्त गांव निवासी मंतोष यादव ने जिलाधिकारी से गुहार लगायी है कि जो पैसा कटान रोधी कार्य में लगाया जा रहा है, उसका जमीन खरीद कर गोपाल नगर टाड़ी के लोगों को बसा दिया जाए तो यह काटन रोधी कार्य करने से अच्छा रहेगा। इस गांव के ही कौशल यादव का कहना है कि कटान पीड़ितों को छाया की सबसे पहले दरकार है। कटान के कारण बेघर हुए लोगों को सरकार को तिरपाल की व्यवस्था सबसे पहले जरूरी है। इसी गांव के बुजुर्ग रामनाथ यादव का कहना है कि पिछले 10 वर्षों में सरजू नदी 3 किलोमीटर बस्ती के तरफ आ गई हैं।

अगर पक्का कटान रोधी कार्य नहीं कराया गया तो आने वाले समय में पुराने सुरेमनपुर रेलवे लाइन के पास तक सरयू नदी पहुंच जाएगी। शिवजी यादव का कहना है कि पिछले वर्ष के कटान में 14 लोग बेघर हुए थे। वह आज भी सुरेमनपुर रेलवे पुरानी रेलवे लाइन के किनारे रेलवे की जमीन में शरण लिए हुए हैं। उनको बसान के लिए भी जिम्मेदार लोग कोई कार्रवाही नहीं किया। इस संदर्भ में जिलाधिकारी तथा जनप्रतिनिधियों को जरूरी कार्रवाई करनी चाहिए जिससे यहां के लोगों को खानाबदोश की जिंदगी से छुटकारा मिल सके।
नदी का जलस्तर बढ़ाव पर
बैरिया। सरयू नदी के जल स्तर में बढ़ाव जारी है। रविवार को तड़के करीब 5 मीटर चौड़ाई में काटन हुआ था। दिन में 10 बजे से कटान थमा हुआ है। बावजूद इसके वहां के ग्रामीण अपना आशियाना खुद अपने हाथों उजड़ने और सुरक्षित स्थानों पर ले जाने में लगे हुए हैं।
कटान पीड़ितों को मिलेगी सभी सुविधाएं: उपजिलाधिकारी
कटान पीड़ितों को सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। सोमवार को उन्हें राहत किट उपलब्ध करा दिया जाएगा। साथ ही उन्हें आवासीय जमीन सहित सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने पर हमारे अधिकारी गंभीरता पूर्वक विचार कर रहे हैं। जल्द ही गोपाल नगर टाड़ी के लोगों की समस्याओं का समस्याओं का समाधान किया जाएगा।
पक्का कटान रोधी कार्य कराया जाएगा: वीरेन्द्र सिंह मस्त
शिवाल मठिया, गोपालनगर टाड़ी, मानगढ़ तथा वशिष्ठ नगर को बचाने के लिए पक्का कटान रोधी कार्य कराया जाएगा। इसके लिए कार्य योजना तैयार करने को जिलाधिकारी से मैंने कहा है। कार्य योजना तैयार होते ही शासन से धन स्वीकृत करा दूंगा। इन गांवों को कटान से बचाना आवश्यक है।

इसे भी पढ़े -   Ballia : बलिया में सड़क हादसा, प्राइवेट लाइनमैन की दर्दनाक मौत

Related posts:

Leave a Comment