क्या बिहार के 34 सीटें जीत पाएंगे नीतीश व लालू

किया दावा, इस बार नहीं खुलेगा खाता, एनडीए पर साधा निशाना

रोशन जायसवाल,
बलिया।
बिहार सरकार की कमान अभी फिलहाल नीतीश कुमार के हाथ में है, क्योंकि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री है वही उनके नीचे वाली कुर्सी पर बिहार के पूर्व सीएम लालू यादव के पुत्र तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम की कुर्सी पर बैठे है। इसलिए बिहार में जदयू और राजद की जोड़ी जबरदस्त चल रही है।

जदयू और राजद बिहार में विकास को लेकर गंभीर है और आगामी लोकसभा को लेकर 17 – 17 सीटे भी आपस में बांट ली है, जैसा कि चर्चा है। ऐसे में आने वाले लोकसभा चुनाव में जेडीयू और राजद दोनो मिलकर बिहार के 34 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है। ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि क्या बिहार के 34 लोकसभाओं के सीटों पर जदयू और राजद अपना परचम लहरा पाएंगे यह आने वाला चुनाव ही तय करेगा। उधर मोदी सरकार पर जदयू और राजद ने हमला बोलना शुरू कर दिया है। उनका दावा है इस बार एनडीए का बिहार में खाता नहीं खुलेगा। एनडीए में शामिल भारत सरकार के मंत्री रहे राम विलास पासवान के पुत्र सांसद चिराग पासवान भी कई सीटों पर चुनाव लडने का दावा कर रहे है। गौरतलब हो कि पिछले लोकसभा चुनाव में जदयू एनडीए में शामिल थीं ऐसे में 40 में 39 सीटों पर जीत हासिल की। सिर्फं एक सीट ही विपक्षी दल के झोली में रहा। उधर बिहार के भाजपा नेताओं की मानें तो उनका दावा है कि इस बार के चुनाव में मोदी लहर के आगे जदयू और राजद हवा में चली जाएगी।

Leave a Comment