Ballia : बलिया में दबंगई : अहमदाबाद से लौटे मजदूरों के घर पर हो गया कब्जा

बलिया। मजदूरों को यह नहीं पता था कि हमारा घर किसी ने कब्जा कर लिया। अब वहां घर नहीं बल्कि सिर्फ जमीन दिखायी दे रही है। जब न्याय की मांग को लेकर नरहीं थाना पहुंचे मजदूरों से पुलिस से अपनी गुहार लगायी तो थाने से उन्हें 10 दिन की मोहलत दी गयी और उनसे कहा गया कि अपने जमीन का कागज लेने आना। जब दूसरी बार थाने पर कागज लेकर मजदूर पहुंचे तो उनकी नहीं सुनी गयी। उसके बाद वे मजदूर जिलाधिकारी के यहां अर्जी लेकर पहुंच गये लेकिन मंगलवार को जिलाधिकारी से मुलाकात नहीं हो पायी। अब वह परिवार अपने घर और जमीन को लेकर दर-दर भटक रहे है।

ये वाक्या नरहीं थाना क्षेत्र के नरहीं गांव का है, जाति के खरवार ये मजदूर अहमदाबाद के मेहरसाड़ा में एक प्राइवेट कंपनी में पिछले 10 वर्षों से मजदूरी कर रहे है। वे अपने घर में ताला बंद कर गये हुए थे। जब उन्हें जानकारी मिली कि हमारे घर को तोड़कर सामान निकाल लिया गया और मकान को ध्वस्त कर दिया गया। तो मजदूर अहमदाबाद से बलिया के नरहीं गांव स्थित अपने घर पहुंचे। जब वे बांस बल्ली लेकर अपने घर को घेरने का प्रयास किया तो इसी बीच किसी ने 112 पर डायल कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें डांट फटकार कर भगा दिया। मजदूरों में बबलू, डब्लू, धनंजय, रंजन ने कहा है कि उनके दादा परदादा के समय से हम लोग रह रहे है और पेट की खातिर हम लोग मजदूरी करने के लिये गांव छोड़कर अहमदाबाद के मेड़सारा में चले गये और वहां पर मजदूरी करने लगे। उन्होंने जिलाधिकारी से निवेदन किया है कि वह जांच पड़ताल कर हमें हमारी भूमि वापस दिलायें।

इसे भी पढ़े -   छात्र हुए लामबंद, जिलाधिकारी आवास का किया घेराव

Leave a Comment