Ballia : जिला पंचायत अध्यक्ष की अध्यक्षता में हुई बैठक


वर्ष 2023-24 के संशोधित बजट व 2024-25 के मूल बजट का सर्वसम्मति से हुआ अनुमोदन
अनुपस्थित अधिकारियों को मिलेगी नोटिस, संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर रूकेगा वेतन
बलिया।
जिला पंचायत की ओर से प्रदत्त स्वीकृति के अनुपालन में शुक्रवार को जिला पंचायत अध्यक्ष आनन्द चौधरी की अध्यक्षता में आचार्य नरेंद्रदेव सभागार में बैठक हुई। इसमें वर्ष 2023-24 के संशोधित बजट (108 करोड़) व वर्ष 2024-25 के मूल बजट (63.55 करोड़) का अनुमोदन सभी सदस्यों की सर्वसम्मति से हुआ। बैठक में सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त व सिकंदरपुर विधायक जियाउद्दीन रिजवी ने भी जनपद के विकास से जुड़े विषयों पर सभी सदस्यों से चर्चा की। सभी सदस्यों ने भी सड़क, बिजली व अन्य जनहित की समस्याओं से अवगत कराया, जिसका निराकरण कराने का भरोसा सीडीओ ओजस्वी राज ने दिया। बैठक में अध्यक्ष आनन्द चौधरी ने कहा कि सभी अधिकारी यह सुनिश्चित कराएं कि इस सदन के सभी सदस्यों की बात को गंभीरता से सुना जाए। प्रायः त्वरित समाधान सम्बन्धित विभाग की ओर से नहीं करने के कारण एक ही समस्या कई बार सामने आ रही है, यह ठीक नहीं है। किसी भी अनुपालन की सूचना भी सदन को दें, ताकि सदस्यों को अवगत कराया जा सके। सदस्यों को भी भरोसा दिलाया कि उनके सभी मांगों व समस्याओं के समाधान और उनके सम्मान के प्रति हमेशा तत्पर रहूंगा। उन्होंने लोनिवि के अधिकारी को निर्देश दिया कि यहां आने वाले जनप्रतिनिधियों व आम जनता की परेशानी को देखते हुए जिला पंचायत मुख्य गेट के सामने डिवाइडर में कट दिया जाए।


जिले की सबसे बड़ी पंचायत, सदस्यों का सम्मान करें अधिकारी
वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि जिले की सबसे बड़ी पंचायत जिला पंचायत है। यहां के सदस्यों का सम्मान करते हुए उनकी बातों पर अधिकारी गंभीर हों। उन्होंने कहा कि ‘गांव के खेत की ओर‘ सरकार की योजना है। इसमें मनरेगा से ऐसे चकरोड बनवाएं जाएं, जो खेतों तक जाते हों। खेत तक चकरोड होने से खेती का खर्चा कम होगा, आय बढ़ेगी और किसानों को सुविधा मिलेगी। ‘सोलर से सिंचाई‘ योजना पर भी काम हो। पशुपालन के क्षेत्र में दो गाय लेने के लिए किसानों को मिलने वाले ऋण योजना का भी व्यापक प्रचार-प्रसार हो। सभी सदस्यों ने कहा कि अपने प्रस्ताव में इन योजनाओं के कार्य को भी शामिल करें तो किसानों के हित में अच्छी पहल होगी।
युवा चेयरमैन के नेतृत्व में हो रहा बेहतर काम
सांसद मस्त ने कहा कि यह अच्छी बात है कि वर्तमान में आजादी के बाद सबसे कम उम्र का चेयरमैन जिला पंचायत को मिला है और युवा उर्जा के नेतृत्व में बेहतर काम भी दिख रहा है। इसलिए हम सभी जनप्रतिनिधियों और सदन के सदस्यों को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। उन्होंने जिले के विकास के लिए जिला पंचायत को अतिरिक्त बजट की व्यवस्था कराने के लिए अपने स्तर से भी प्रयास करने का भरोसा दिलाया।
अधिकारियों की अनुपस्थिति पर पूरे सदन में दिखी नाराजगी
जिला पंचायत की बैठक में अधिकारियों की अनुपस्थिति पर जिपं अध्यक्ष, सांसद समेत सभी सदस्यों ने नाराजगी देखने को मिली। अध्यक्ष श्री चौधरी ने कहा कि बार-बार चेतावनी देने के बाद भी उपस्थिति के प्रति गंभीर नहीं होना आपत्तिजनक है। सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने भी सीडीओ को निर्देश दिया कि सभी अनुपस्थित अधिकारियों को नोटिस जारी हो। संतोषजनक जवाब नहीं मिले तो उनके विरूद्ध कार्रवाई कर अवगत कराएं। सभी सदस्यों की ओर से कहा कि यह अधिकारियों के लिए अंतिम चेतावनी है। सीडीओ ने भी इस पर गंभीरता से कार्रवाई का भरोसा दिलाया। कहा कि संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर एक दिन का वेतन कटना तय है।
सिकंदरपुर डाकबंगले की होगी रिपेयरिंग
बैठक में विधायक जियाउद्दीन रिजवी ने कहा कि जिला पंचायत ऐसी सदन है, जहां पक्ष और विपक्ष नहीं, बल्कि सभी बराबर होते हैं। ऐसे में यहां के माध्यम से आपसी समन्वय के साथ बेहतर कार्य की अपेक्षा की जाती है। विधायक ने सिकंदरपुर में काफी पुराना डाकबंगला है, जिसमें चार कमरे बनवाने का प्रस्ताव रखा, जिस पर जिपं अध्यक्ष ने कहा कि डाक बंगले की बेहतर ढ़ंग से मरम्मत करायी जाएगी। बैठक में अपर मुख्य अधिकारी विन्ध्याचल सिंह कुशवाहा, जेई मुकेश यादव, ब्लॉक प्रमुख सीयर आलोक सिंह, प्रमुख पन्दह राघवेंद्र यदुवंशी, प्रमुख चिलकहर आदित्य गर्ग सहित अन्य जिला पंचायत सदस्य व सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े -   Ballia : छात्रसंघ चुनाव के समर्थन में आगे आए छात्रनेता

Leave a Comment