Ballia : मिशन 2024: अखिलेश दे सकते हैं इनको बड़ी जिम्मेदारी

रोशन जायसवाल,
बलिया।
आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए समाजवादी पार्टी बलिया जिले के ब्राह्मण नेताओं को भी संगठन को मजबूत करने की दृष्टि से मौका दे सकती है। वैसे समाजवादी पार्टी का बेस वोट यादव, मुसलमान माना जाता है। लेकिन ठाकुर, ब्राह्मण और भूमिहार, राजभर, वैश्य तथा ओबीसी जातियों के नेताओं को भी सपा ने तरजीह दी है। लेकिन बलिया के ब्राह्मण नेताओं को पार्टी बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है। समाजवादी पार्टी के सबसे पुराने ब्राह्मण नेता जनेश्वर मिश्र और विक्रमादित्य पांडेय थे। इनके निधन के बाद सपा ने बलिया के मजबूत ब्राह्मणों को पार्टी से जोड़ते हुए सनातन पांडेय को विधानसभा के बाद बलिया लोकसभा में चुनाव लड़ाया। ऐसा पहली बार हुआ कि सपा ने बलिया लोकसभा सीट से एक ब्राह्मण को मौका दिया। अब सपा से जुड़े ब्राह्मण नेताओं पर विश्वास करते हुए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव में अलग-अलग जिम्मेदारी दे सकते हैं। वैसे अखिलेश यादव के करीबी नेताओं में सनातन पांडेय, तारकेश्वर मिश्र, संजय उपाध्याय, सुशील पांडेय कान्हजी, राजकुमार पांडेय, शशिकांत चतुर्वेदी, श्रीप्रकाश पांडेय मुन्ना, पीएन तिवारी, कुबेर तिवारी, रोहित चौबे, हिमांशु त्रिपाठी, मीना तिवारी के साथ अन्य भी ब्राह्मण नेता है जो अखिलेश के मिशन को आगे बढ़ा रहे है। वैसे चर्चा यह भी है कि नगर निकाय चुनाव में जो भी लोग पार्टी से निष्कासित थे उनकी वापसी हो चुकी है। एक सूत्र ने बताया कि 16 दिसंबर को लखनऊ के सपा कार्यालय में बलिया के नेताओं की बैठक हुई थी। जिसमें सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव भी मौजूद थे। इसी बैठक में निष्कासित नेताओं को पार्टी मंें शामिल करने के बाद उन्हें लोकसभा चुनाव में पार्टी को मजबूत रखने के लिये जिम्मेदारी भी दी गयी। वैसे समाजवादी पार्टी के लिये काम कर रहे ब्राह्मण नेताओं पर भी अखिलेश यादव का पूरा विश्वास है कि वे अखिलेश के मिशन 2024 को आगे बढ़ाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *