Ballia : फोरलेन रिंग रोड के लिए एनएचआई ने किया सर्वे

फोरलेन सड़क के निर्माण से नगर को जाम से मिलेगी मुक्ति
परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह के प्रयास पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी थी मंजूरी
बलिया।
विकास को नया आयाम देने के लिए बलिया नगर के विधायक एवं योगी सरकार के परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह जुटे हुए है। बात करें तो मेडिकल कालेज एवं जिला कारागार को नये जगह शिफ्ट करने, सुरहाताल को विकसित करने, कटहल नाला के सुंदरीकरण, शहीद पार्क को मॉडल बनाने के साथ ही दुबहर से लेकर माल्देपुर तक बाईपास का निर्माण कराना उनकी प्राथमिकता में शामिल है। इनकी सोच थी कि आचार संहिता लगने के पहले मेडिकल कालेज की आधारशिला रख दी जाय, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया, जबकि राजकीय इंटर कालेज एवं जिला अस्पताल के भवनों को एक साथ शामिल करके उसका डीपीआर भी बनाया गया।

आचार संहिता लगने के चलते वह आगे नहीं बढ़ पा रहा है। इसके अलावा भृगु कारिडोर के निर्माण की बात उनके जेहन में है। परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह के दोनांे ड्रीम प्रोजेक्ट आचार संहिता लगने के कारण आगे नहीं बढ़ पा रहा है। उम्मीद है कि आचार संहिता समाप्त होने के बाद इस पर तीव्र गति से कार्य हो। परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने बलियावासियों को एक नई खुशखबरी दी है। शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की टीम ने शुक्रवार एवं शनिवार को वैना से लेकर हल्दी तक प्रस्तावित फोरलेन आउटर रिंग रोड का सर्वे किया।

इसमें एनएचआई के अधिकारी मनोज सिंह के नेतृत्व में शैलेन्द्र यादव आदि सदस्यों ने फोरलेन रिंग रोड बनाने को लेकर जमीन एवं सड़कों का बारीकी से दो दिनों तक निरीक्षण किया। गौरतलब है कि पिछले वर्ष फरवरी में जिले के चितबड़ागांव में एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने आउटर रिंग रोड बनाने की मांग की थी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मंच से ही करीब 600 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस रिंग रोड की घोषणा भी की थी। ऐसे में समय के साथ मंत्री दयाशंकर सिंह का प्रयास तेज हुआ तो इसका कार्य आगे बढ़ा।

इसे भी पढ़े -   अब जीवित प्रमाण पत्र देने के लिए नहीं जाना होगा शहर मुख्यालय, इस तरह दो मिनट में पाएंगे सर्टिफिकेटर

शुक्रवार को इसका जायजा लेने के लिए एनएचआई की टीम जिले में पहुंची और सर्वे किया। इसके बनने से लोगों को जहां जाम से पूरी तरह निजात मिल जाएगा, वही बड़े वाहन आराम से शहर के बाहर-बाहर निकल जाएंगे। इसमें प्रस्तावित रिंग रोड वैना से अलावलपुर, धरहरा, सुरहाताल, फुलवरिया, बांसडीह रोड से सोनवानी होते हुए हल्दी में जाकर ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे में मिल जाएगा। इसे लेकर टीम के सदस्यों ने पूरे रूट का सर्वे करने के साथ ही सड़क व तथा इसमें पड़ने वाली जमीनों का गहन जायजा लिया। टीम के मुखिया मनोज सिंह ने बताया कि सबकुछ ठीक रहा तो इस पर जल्द कार्य शुरू भी हो जाएगा। सर्वे का कार्य पूरा कर लिया गया है।

Leave a Comment